जानिये डायबिटीज – मधुमेह में कैसा आहार ले

मधुमेह यानी डायबिटीज एक आम बीमारी बन चुकी है। इस रोग में अगर खान-पान का सही से ध्यान न रखा जाये तो ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से आँखों में, गुर्दे, स्नायु तंत्र, हार्ट आदि अंग प्रभावित हो जाते है। अधिकतर मामलो में अनियमित खान-पान से ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। आइये जाने की किस प्रकार के डाईट प्लान को अपना कर शुगर लेवल को कंट्रोल रखा जा सकता है।

Best Diabetes Diet Plan for Diabetics in Hindi

शुगर की बीमारी ( Diabetes ) में अपनाये ऐसा डाईट प्लान – Best Diabetes Diet Plan for Diabetics in Hindi

मधुमेह में खाने पिने का विशेष ध्यान रखना होता है। अगर अपने अपने शुगर कंट्रोल करने के तरीके सही नहीं अपनाये तो आपके लिए यह बहुत हानिकारक सिद्ध हो सकता है। हम यहाँ डायबिटीज रोगियों के लिए पुरे दिन का डाईट प्लान बता रहे है, जिसको फॉलो कर के Diabetes control करा जा सकता है.

सुबह ( Morning )

  1. सुबह उठते ही खाली पेट 2 चम्मच मेथीदाना पाउडर या अंकुरित रूप में लेने से ब्लड शुगर का लेवल कंट्रोल में रहता है।
  2. सुबह एक कप बिना चीनी के चाय के साथ हाई फाइबर या आटे से बने बिस्कुट्स ले।
  3. नास्ते में एक कप दूध, एक कटोरी अंकुरित दाल, वेजिटेबल दलिया या वेजिटेबल ओट्स, सब्जियों से भरपूर स्टफ रोटी ले। नास्ता और लंच ( दोपहर का खाना ) के बिच 70-80 ग्राम फ्रूट ले सकते है।

दोपहर ( Afternoon )

दोपहर के खाने ( Lunch ) में मौसमी सब्जियों का सलाद, दो तीन मिक्स अनाज की रोटी, एक कटोरी सब्जी और एक कटोरी दही या रायता ले।

शाम ( Evening )

शाम को सिर्फ चाय या ग्रीन टी के साथ मुट्ठी भर रोस्टेड चना ले सकते है।

रात ( Night )

डिनर में सलाद, एक या दो रोटी, एक छोटी प्लेट ब्राउन राइस, एक कटोरी दाल के साथ हरे धनिये की चटनी ली जा सकती है।

लेते रहे यह जरुरी फल फ्रूट 

कुछ लोगो का मानना है की उन्हें फ्रूट नहीं खाने चाहिए, क्युकि इनमे शुगर की मात्रा अधिक होती है, जबकि यह गलत धारणा है। फलो में रोग प्रतिरोधक शमता को बढाने वाली प्राकृतिक शुगर पाई जाती है, जो रोगों को दूर रखने का काम करती है। रोजाना 70-80 ग्राम ऐसे फ्रूट खाए जिनमे फाइबर अधिक और केलोरी कम हो। फलो में अधिक मात्रा मै एंटीऑक्सीडेंट होते है। यह डैमेज कोसिकाओ की मरम्मत करने में मददगार है। संतरा, जामुन, पपीता, अमरुद, नासपाती, तरबूज और खरबूजा यह सब 80 से 100 ग्राम की मात्रा में ले। ऐसे फ्रूट जो ज्यादा मीठे होते है, जैसे केला, सीता फल, मेंगो, अनार और अंगूर 50 ग्राम की मात्रा में ही ले।

सब्जिया खाए भरपूर 

हाई फाइबर से भरपूर हरी पत्तेदार और मौसमी सब्जिया जैसे पालक, मैथी, सरसों का साग, ब्रोकली, गाजर, मटर, आदि को अपने खाने में शामिल करे। आलू, रतालू, अरबी जैसी कम फाइबर वाली सब्जियों को कम मात्रा में ले या हरी सब्जियों के साथ मिलाकर खाने में ले। इनको मिक्स वेज बनाकर खा सकते है।

डायबिटीज के रोगियों के खाने में रखे पोष्टिकता का ख्याल

कार्बोहाइड्रेट, फेट और प्रोटीन से संतुलित आहार ले. अधिक समय तक खाली पेट रहने से ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है, जिसको हिपोग्लिसिमिया कहते है. इस स्थिति में रोस्टेड चना या आते के बिस्कुट्स अपने साथ हमेशा रखे. इसके अलावा यदि घर से बहार जाना पड़े भी तो अपने साथ चीनी, चोकलेट के बजाये गुड या किसमिस रखे.  इनमे आयरन और फोलिक जैसे तत्व भरपूर मात्रा में पये जाते है. जो शुगर के लेवल को नोर्मल रखने के साथ शरीर में उर्जा बढाने का कम करते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.